Home / इतिहास / प्राचीन भारत | History of Ancient india

प्राचीन भारत | History of Ancient india

प्राचीन भारत (History of Ancient India)

प्राचीन भारत

प्राचीन भारत के इतिहास के चार स्रोत है

  1. ऐतिहासिक ग्रंथ
  2. धर्म ग्रंथ
  3. विदेशी विवरण
  4. स्मृति (रामायण महाभारत पुराण स्मृतियाँ)


धर्म ग्रंथ और ऐतिहासिक ग्रंथ (Religious texts and historical texts)

भारत मे पुराणों की संख्या 8 होती है

भारत का संगीत सामवेद है

वैदिक सभ्यता को 2 भागो मे बाटा जाता है (Vedic civilization is divided into 2 parts)

  • 15000 – 1000 पूर्व ऋग्वेद काल
  • 1000 -600 पूर्व उत्तर वैदिक काल |

आर्यो की संस्कृत भाषा है ।

आर्यो का कृषि और पशुपालन से अपना गुजारा करते है

दो महाकाव्य है  | (There is two epic)

1  महाभारत

2 . रामायण

 

रामायण कथा (Ramayana story)

प्राचीन काल मे भारत धार्मिक और ब्राह्मण साहित्य के ज्ञान मे बड़ा ही सहयोग दिया । भारत मे बहुत ही ग्रंथ है जिसमे भारत की प्राचीन सभ्यता और संस्कृति की कहानी होती है| भारत मे रामायण और महाभारत दो महाकाव्य है| रामायण को महर्षि बाल्मीकि ने लिखा जिसमें अयोध्या के बारे मे लिखा है ।जिसमे शासन काल रामराज्य आदि  के बारे मे बतया गया है।

रामायण मे राम राजा दशरत के पुत्र थे जब राम वनवास गये थे तो वहा उनकी मुलाकात जय-हनुमान से हुई । रावण सीता के उठा कर ले गये । रावण ने लक्ष्मण को बेहोस करवा दिया थे उसकी जान हनुमान ने बचाई थी । राम और लक्ष्मण ने रावण के सभी भाई को मरवा डाला । अंत मे राम ने रावण को तड़पाकर- लक्ष्मण कर हत्या कर दी । राम जब वनवास से घर आया तो वहा क़ लोगो ने घी के दिया जलया | तो जब से इस दिन को दशहरा और दिवाली क़ रूप मे मनाता है ।

महाभारत का संक्षिप्त वर्णन (Brief narrative of the Mahabharata)

महाभारत को व्यास मुनि ने लिखा है | जिसमे इतिहास कथाओं और उपदेशों के बारे मे लिखा गया है | महाभारत महाकाव्य मे प्राचीन सामाजिक और धार्मिक के बारे मे बतया गया है । महाभारत मे ‘सुधमां और देवसभा ‘ का  ज्ञान प्राप्त हुआ । महाभारत मे कार्य इन राजनीतिक संस्थाओं और वहा के लोगो ने प्रतिनिधित्व किया था ।

महाभारत मे परिवारों कौरव और पाण्डव दो परिवारों बाटा गया है । पाण्डव 5 भाई थे | पाण्डवों का जन्म एक साथ हुआ । कौरव और पाण्डव का एक साथ लड़ाई हुई । जिसमे पाण्डव जीत गये । लड़ाई बहुते भयंकर हुई थी । जिसमे कुरुछेत्र की भूमि कौरव और पाण्डव के लड़ाई मे कहने से लथपत लाल हो गई

महाभारत के  मुख्य पात्र है (Mahabharata, the main character):

अभिमन्यु, अम्बा, अम्बिका, अर्जुन, बकासुर, भीष्म, द्रौपदी, द्रोण, द्रुपद, दुर्योधन, दुःशासन, एकलव्य, गांडीव, गांधारी. कर्ण, कृपाचार्य, कृष्ण, कुरुक्षेत्र, पाण्डव, परशुराम, शल्य और महर्षि व्यास थे |

लेखक (Writer)

राजवीर (Rajveer)

 

About bookmarkingsite

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *